पूरी तरह बंद रहेंगे स्कूल-कालेज

पूरी तरह बंद रहेंगे स्कूल-कालेज

क्लास वन-टू कर्मचारियों को आने की जरूरत नहीं, आदेश शिक्षण संस्थानों के लिए नहीं

शिमला – प्रदेश के शिक्षण संस्थानों में क्लास वन व क्लास टू श्रेणी में आने वाले कर्मचारियों को ड्यूटी पर आने की जरूरत नहीं है। क्योंकि यहां शिक्षण संस्थान पूरी तरह से बंद हैं। लिहाजा स्कूलों में प्रधानाचार्यों, प्रवक्ताओं के साथ गैर शिक्षक वर्ग, जो कि क्लास वन-टू की श्रेणी में हैं, को भी ड्यूटी पर आने की जरूरत नहीं है। इससे पहले कार्मिक विभाग ने आदेश दिए थे कि सभी क्लास वन व टू के अधिकारियों को रोजाना कार्यालय आना होगा, लेकिन सोमवार को कार्मिक विभाग ने साफ कर दिया है कि ये आदेश शिक्षण संस्थानों पर लागू नहीं होंगे। इसे लेकर असमंजसता की स्थिति बन गई थी, जिसे अब क्लीयर कर दिया गया है। पुराने आदेशों के बाद शिक्षण संस्थानों में इन वर्गों के आने को लेकर संशय बन गया था। शिक्षा विभाग में शिक्षक व गैर शिक्षक इस श्रेणी में आते हैं, जिनमें कालेज व स्कूल प्रवक्ता भी इस श्रेणी में शामिल हैं, क्योंकि पूरे प्रदेश में स्कूल व कालेजों को बंद रखा गया है, लिहाजा इन्हें भी ड्यूटी पर आने से मनाही की गई है। बहरहाल, कोरोना महामारी के चलते जारी लॉकडाउन के दौरान कई विभागों में विभिन्न कर्मचारियों के आने पर अभी तक सस्पेंस है।

मंडे को स्कूल पहुंच गए लोग, बाद में लौटे वापस

सोमवार को ऐसे कई लोग स्कूलों में पहुंचने शुरू हो गए थे, जिन्हें स्कूल नहीं खुलने से वापस जाना पड़ा। ये आदेश तकनीकी शिक्षा के संस्थानों पर भी लागू होंगे, जिनमें तकनीकी व वोकेशनल ट्रेनिंग इंस्टीच्यूट, आईटीआई, पॉलिटेक्नीक, इंजीनियरिंग कालेज भी शामिल हैं। यहां भी इन श्रेणियों को ड्यूटी पर आने से इन्कार किया गया है, क्योंकि यह संस्थान भी पूरी तरह बंद रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *