NEWS

हिमाचल प्रदेश स्कूल प्राध्यापक संघ के शिष्टमंडल ने शिक्षा मंत्री से मांगों को लेकर की मंत्रणा। कमीशन से अनुबंध पर लगे व नियमित हुए प्रवक्ताओं को इनिशियल स्टार्ट 16290 देने की मांग

हिमाचल प्रदेश स्कूल प्राध्यापक संघ के अध्यक्ष केसर ठाकुर , महासचिव संजीव ठाकुर , मुख्य सरंक्षक नरोत्तम ठाकुर व अन्य पदाधिकारियों ने शिक्षा मंत्री को टोपी व शॉल पहनाकर सम्मानित किया। संघ के पदाधिकारियों ने विस्तारपूर्वक लगभग एक घंटा शिक्षा मंत्री से विभिन मांगों पर चर्चा की । केसर ठाकुर ने अनुबंध के आधार पर कमीशन से नियुक्त हुए प्रवक्ताओं से वेतन के मामले में हो रहे अन्याय को जोरदार

प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक के निर्णय

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता मे हुई प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक मे उन अनुबन्ध कर्मचारियों की सेवाओं को नियमित करने की अनुमति प्रदान की, जिन्होंने 31 मार्च, 2020 को तीन वर्ष की नियमित सेवाएं पूर्ण कर ली हैं और जो 30 सितम्बर, 2020 तक तीन वर्ष की नियमित सेवाएं पूर्ण करेंगे। मंत्रिमंडल ने पात्र दैनिक वेतन भोगी/कंटीजेंट पेड इम्पलाईज को नियमित करने का निर्णय लिया, जिन्होंने 31 मार्च, 2020 पांच

ट्राइबल, दुर्गम क्षेत्रों में सेवारत सरकारी कर्मचारियों को हाईकोर्ट से राहत

ट्राइबल, दुर्गम क्षेत्रों में सेवारत सरकारी कर्मचारियों को हाईकोर्ट से राहत ट्राइबल को दुर्गम क्षेत्रों में रिलीवर की पॉलिसी को ठहराया गैरकानूनी शिमला। हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट ने सरकारी कर्मचारियों को राहत देते हुए प्रदेश सरकार द्वारा बनाई गई ट्राइबल को दुर्गम क्षेत्रों में रिलीवर की पॉलिसी को गैरकानूनी ठहरा दिया है। कोर्ट ने कहा कि रिलीवर खोजने की जिम्मेदारी सम्बंधित अथॉरिटी की है न की ट्राइबल में सेवाएं देने वाले

तदर्थ आधार पर नियुक्त 836 प्रिंसिपलों को सरकार ने दिया तोहफा

जयराम सरकार ने साल 2018 तक तदर्थ आधार पर पदोन्नत सभी प्रधानाचार्यों को रेगुलर करने का फैसला लिया है. जिसके बाद अब हर साल विभागीय पदोन्नति बैठक की जाएगी. प्रदेश सरकार के अनुसार इस निर्णय से प्रदेश में लम्बे समय से अपने रेगुलर होने का इंतजार कर रहे हजारों प्रधानाचार्यों को फायदा होगा. सरकार के निर्देश पर पिछले दस सालों से तदर्थ आधार पर पदोन्नत प्रधानाचार्यों के नियमितिकरण के लिए

प्रवक्ताओं की वेतन व्रद्धि रोकने का संघ ने किया कड़ा विरोध

हिमाचल स्कूल प्रवक्ता संघ ने बिना स्पष्टीकरण लिए बोर्ड परीक्षाओं में कम परिणाम देने वाले शिक्षकों की वेतनवृद्धि रोकने के फैसले की निंदा की है। संघ के प्रधान केसर ठाकुर, महासचिव संजीव ठाकुर, कार्यकारी प्रधान राम कृष्ण मार्कंडेय और मुख्य प्रेस सचिव राजेंद्र शर्मा ने कहा कि परिणाम कम आने के कई कारण हैं। विभाग को सभी कारणों का पता लगाकर इसके लिए सही नीति बनानी चाहिए। आठवीं तक फेल